चर्चित प्रकरण- सरजू नहर खंड बांसी द्वारा अधिक मुआबजा लेने पर तहसीलदार ने जारी की वसूली प्रमाण पत्र, 80 लाख से अधिक का हुआ था झोल

0
523

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

चर्चित प्रकरण- सरजू नहर खंड बांसी द्वारा बढ़नी विकास खण्ड के बढ़नी लाला में अधिक मुआबजा लेने पर तहसीलदार शोहरतगढ़ ने वसूली की कार्यवाही तेज कर दी।

बताते चले कि जिन लोगो पर तहसील प्रशासन ने शिकंजा कसा है उन पर आरोप था कि निजी पैसे से पहले सड़क बनाई गई और सड़क दिखाकर 3 गुना मुआवजा लिया गया, जिसमें लाखों रुपयों का झोल सामने आया था।

इसी कार्यवाही में तहसीलदार शोहरतगढ़ राजेश अग्रवाल अपने संग्रह अमीनो के साथ बकीदार के घर पुनः पहुंचे, जो कि सिद्धार्थनगर जनपद के बढ़नी विकास खण्ड अन्तर्गत ग्राम बढ़नी लाला के निवासी है। बाक़ीदार नईम पुत्र चिकन बकाया रुपये 39,23,400 + अन्य खर्च तथा मुस्तकीम पुत्र चिकन रुपये 41,18,400 + अन्य खर्च शामिल है। तहसीलदार राजेश अग्रवाल ने बताया कि इन दोनों के विरुद्ध अधिशाषी अधिकारी सरजू नहर खंड बांसी द्वारा अधिक मुआबजा लेने के कारण वसूली प्रमाण पत्र जारी किया गया है। पूर्व में भी इन दोनों के विरुद्ध वारंट जारी किया गया था।इनके घर किसी की तबियत अत्यधिक खराब होने के कारण इन्हें धनराशि जमा करने के लिए समय दिया गया था,लेकिन जमा नही किये जाने पर पुनः वारंट लेकर करवाई की गई है। बकाया जमा नहीं किये जाने पर चल/अचल संपत्ति की कुर्की जारी कराये जाना का निर्देश नायब तहसीलदार शोहरतगढ़ को दिया गया है। उत्तर प्रदेश शासन का स्पष्ट निर्देश है कि बड़े बाक़ीदारो के विरुद्ध अभियान चलाकर वसूली की करवाई की जाय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here