जुआरियों पर नही कस पा रही पुलिस शिकंजा, वाहवाही के चलते बेगुनाहों को बना रही निशाना

0
381

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
खागा

कस्बे से लेकर गांव तक युद्ध स्तर पर जुआ संचालित किया जा रहा है। संचालित हो रहे जुए में लम्बे – लम्बे दांव लगाए जा रहे हैं। लेकिन पुलिस की नजर इस ओर नही जा रही है। कोतवाली पुलिस पुलिस कप्तान से वाहवाही के चक्कर में कस्बे के सीधे – साधे लोगों को पकड़कर कोरम मात्र पूरा कर रही है। बीते बुधवार को कोतवाली पुलिस ने महज खानापूर्ति हेतु छोटे-छोटे बरसाती मंजर पर शिकंजा कस कर वाहवाही लूट ली। पिछली कार्रवाई में पुलिस ने जुआरियों के बजाय बाई पास में घूम रहे कुछ छात्रों को पकड़कर जुए खेलने के आरोप में चालान कर दिया। किये गए चालान पर छात्रों के घरवालों ने कड़ा विरोध जाहिर किया। क्या कारण है कि कोतवाली क्षेत्र में लगातार चल रहे जुए पर पुलिस का प्रयास फिसड्डी साबित हो रहा है। सट्टे का बढ़ता क्रेज देखते हुए लोगों इसे व्यवयाय बना लिया है। पैसा कमाने की तीव्र चाहत और भाग्यवादी सोेंच के लोग इसके चपेट मे ज्यादा आ चुके हैं। इस गैर कानूनी धंधे को खेल का रूप देकर कई जगह संचालित किया जा रहा है। सुत्रों के मुताबिक इस गेम के सहारे सटोरियों ने बड़ी संख्या में शिक्षित-अशिक्षित व युवा वर्ग को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। पुलिस कप्तान को इस पर लगाम लगाने के लिए एक वृहद पैमाने पर कार्रवाही करनी चाहिए। असल में पुलिस जुआरियों पर हाथ नहीं डालना चाहती है। अगर पुलिस सही में कार्रवाई कर देगी तो पुलिस की जेब में रोजाना आने वाली रकम में बट्टा लग जाएगा। जिले में साफ सुथरी छवी वाले पुलिस कप्तान की छवी को कहीं न कहीं कोतवाली पुलिस व किशनपुर पुलिस धूमिल करने में लगी हुई है। मामले में कोतवाली प्रभारी पारशुराम का कहना था कि हम पता लगा रहे हैं। अगर संचालित हो रहा है तो पकड़कर कार्रवाई करेंगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here