सवर्णो ने किया आरक्षणासुर व एस्ट्रोसुर का पुतला दहन

0
444

आरक्षणासुर व एस्ट्रोसुर का पुतला दहन

पर्दाफाश न्यूज टीम

प्रयागराज
नैनी, प्रयागराज, 08 अक्टूबर 2019। आज प्रयागराज के नैनी अंतर्गत उत्तरी लोकपुर में सवर्ण समाज के लोगों ने जातिगत आरक्षण के विरोध में एक नई शुरूवात करते हुए आरक्षणासुर व एस्ट्रोसुर का पुतला दहन किया।
जानकारी के अनुसार प्रयागराज के नैनी में सवर्ण समाज ने जातिगत आरक्षण के विरोध में प्रदर्शन करते हुए आरक्षण व एस्ट्रोसिटी बिल को सवर्ण विरोधी व भारतीय संविधान के प्रस्तावना के विरुद्ध बताकर उसे आरक्षणासुर व एस्ट्रोसुर के रूप में उसका वध करके उसके पुतले का दहन किया। इस अवसर पर आर0के0 पाण्डेय एडवोकेट ने कहा कि भारतीय संविधान के प्रस्तावना व मौलिक अधिकार में समानता का वर्णन है परंतु मात्र 10 वर्ष के लिए अस्थाई आरक्षण को अनवरत सर्वकालिक व जातिगत बनाकर भारतीय संविधान की मूल भावना से खिलवाड़ किया जा रहा है वही एस्ट्रोसिटी बिल के जरिये जबरन व अकारण सवर्णो को जेल भेजने की साजिश रची गई है। उन्होंने कहा कि जब जाति बताकर नौकरी मिलती है तो उसी जाति शब्द का इश्तेमाल अपराध कैसे हो सकता है? आर0के0 पाण्डेय ने उपस्थित लोगों से पूछा कि जब त्रेता युग मे एक भारतीय नारी का अपहरण करके उसे सुरक्षित रखने वाले विद्वान ब्राह्मण राजा रावण को सपरिवार व रिश्तेदारों सहित मारकर उसका अस्तित्व मिटा दिया गया व युगों बाद आज भी खुले आम उसका पुतला दहन किया जाता है तो फिर आज भ्रष्टाचार, जातिगत आरक्षण व एस्ट्रोसिटी बिल से जब करोड़ों सवर्ण सीधे प्रभावित हो रहे है एवं उनकी प्रतिभा का जानबूझकर गला घोंटकर भारतीय संविधान की मूल भावना को ही खत्म किया जा रहा है तो आखिर समाज चुप कैसे रह सकता है। इसीलिए आज हम लोगों ने आरक्षणासुर व एस्ट्रोसुर का सांकेतिक वध करके उनके पुतलों का दहन किया है। इस अवसर पर करुणा पति त्रिपाठी, रमाकांत तिवारी, कुंवर जी तिवारी, ए0के0 मिश्र, सुषमा तिवारी व मुन्ना आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here