आनन्द मैरिज ऐक्ट लागू करने की मांग

0
133

खबर विशेष लखनऊ से

उत्तर प्रदेश में भी “आनन्द मैरिज एक्ट” जल्द लागू की मांग

गुरुवार | हमारी सरकार सभी धर्मों के अधिकारों को पूरा करने वाली है , इसी कडी में जल्द ही उत्तर प्रदेश में भी “आनन्द मैरिज एक्ट ” लागू होगा उपरोक्त आश्य का आश्वासन आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की राजधानी लखनऊ लोक भवन स्थित कार्यालय में मुलाकात करने पहुचे सन्त लोंगोवाल फॉउनडेशन के सिख प्रतिनिधिमंडल को आनन्द मैरिज एक्ट को उत्तर प्रदेश में भी लागू करने के सम्बंध में दिये गए प्रतिवेदन को स्वीकार करते हुये दिया |
फॉउनडेशन के अध्यक्ष हरमिन्दर सिंह के नेत्रत्व में एक सिख प्रतिनिधिमंडल ने आज लखनऊ में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ से पूर्व निर्धारित समय पर मुलाकात कर सिखों की शादियां उनके अपने एक्ट आनन्द मैरिज एक्ट के अनुसार पंजिकृत कराये जाने सम्बंधी मांग करते हुये ज्ञापन दिया , प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि हरियाना , दिल्ली , झारखण्ड सहित अबतक पांच (5) राज्य आनन्द मैरिज एक्ट को अपने अपने प्रदेशों में लागू कर चुके हैं पर यह एक्ट अभी तक उत्तर प्रदेश में लागू नही किया गया है जबकि पंजाब और दिल्ली के बाद सबसे ज्यादा सिख अबादी उत्तर प्रदेश में है , अभी तक सिखों का विवाह हिन्दू मैरिज एक्ट के तहत पंजिकृत होने के कारण गैर प्रवासी सिखों को कई समस्याओं का सामना करना पडता है , इस अवसर पर मुख्यमंत्री को जगतगुरू महाराज श्री गुरू नानक देव जी का चित्र भी भेंट किया किया गया जिसे मुख्यमंत्री ने सिख भावनाओं का आदर करते हुये सर पर पटका /दस्तार बांध कर स्वीकार किया , प्रतिनिधिमंडल व प्रतिवेदन में दिये तथ्यों को गंभीरता से समझते हुये मुख्यमंत्री ने सम्बंधित मामले पर स्कारात्मक रुख प्रकट करते हुये सम्बंधित कानूनविदों से जानकारी एवं राय कर एक्ट को उत्तर प्रदेश में भी लागू करने का आश्वासन दिया |
प्रतिनिधिमंडल में सरदार हरमिन्दर सिंह, सरदार जसवीर सिंह सचदेव , सुप्रसिद्ध वरिष्ठ समाजसेवी सरदार पतविन्दर सिंह , सरदार परमजीत सिंह सलूजा , सरदार अमनजोत सिंह शामिल थे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here