प्रेतात्मा ने सशरीर प्रशासन व हाई कोर्ट से लगाया न्याय की गुहार, यमराज ने ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी को दिया चार्ज

0
631

आर के पांडेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

प्रयागराज स्थित हाई कोर्ट इलाहाबाद से कबीरदास की प्रेतात्मा ने सशरीर न्याय की गुहार लगाई है जबकि इस प्रेतात्मा ने प्रशासन को न्याय हेतु विगत कई वर्षों से परेशान कर रखा है। जानकारी के अनुसार यमराज भी ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी को चार्ज देकर खुद पिकनिक पर जा चुके हैं।
बता दें कि हाई कोर्ट इलाहाबाद में एक विचित्र मुकदमा दाखिल हुआ है जिसमे म्रतक कबीरदास खुद को जिंदा साबित कर रहे हैं। इस मामले में कोर्ट ने अधिकारियों को जांच कार्यवाही हेतु 04 सप्ताह का समय दिया है।
जानकारी के अनुसार कबीरदास पुत्र झुरु (उम्र लगभग 70 वर्ष), निवासी- ग्राम-बौता विषेशर सिंह, विकास खण्ड-छानबे, थाना-जिगना, जनपद-मिर्जापुर विगत कई वर्षों से खुद को जिंदा साबित करने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं। कबीरदास का आरोप है कि उनके द्वारा प्रधान मंत्री आवास योजनान्तर्गत आवास की मांग की गई थी परंतु ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी द्वारा मांगी गई रुपये 30000-00 की रिश्वत न दे पाने पर ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी ने कबीरदास को मृतक दिखा दिया। ऐसा प्रतीत होता है कि यमराज ने अपना चार्ज इन प्रधान व सेक्रेटरी को दे दिया है व खुद पिकनिक मनाने चले गए हैं। कबीरदास ने बताया है कि उनके गांव में कुल उपलब्ध 44 आवासों में 35 गलत बने है जबकि मात्र 09 आवास ही सही बने हैं। ग्राम पंचायत से प्रदेश मुख्यालय तक घोर भ्रष्टाचार का आलम यह है कि विगत कई वर्षों से प्रसाशनिक अधिकारियों के दरवाजे पर शपथ पत्र के साथ दर्जनो बार दौड़ने पर भी कबीरदास न्याय से वंचित है। थकहार कर अंततः कबीरदास खुद को जिंदा साबित करने के लिए हाई कोर्ट से न्याय की गुहार लगाया है जिस पर कोर्ट ने अधिकारियों को चार सप्ताह में मामले के निस्तारण का आदेश दिया है। फिलहाल जिंदा कबीरदास को खुद को जिंदा साबित करने में भ्रष्ट प्रशासन के आगे पसीने छूट रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here