30 वर्ष से ऊपर के सभी लोंगो की होगी जाँच, घर घर जाकर स्वास्थ्यकर्मी करेंगे बी.पी व शुगर की जाँच, गैर संचारी रोगों की चपेट में आ रही है युवा पीढ़ी

0
851

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

आने वाले कुछ दिनों में सभी बस्तियों में स्वास्थ्य कर्मचारी समुदाय में गैर संचारी रोगों की जाँच करेंगे|राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत “नेशनल प्रोग्राम फॉर प्रिवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ़ कैंसर,डायबिटीज कार्डियोवैस्कुलर डिजीज एड स्ट्रोक” के अंतर्गत पापुलेशन बेस्ट स्क्रीनिग से भारत सरकार ने गैर संचारी रोगों के लिए 30 वर्ष से ऊपर के सभी लोगो की जाँच करने का निर्णय लिया हैं |
तीस वर्ष से ऊपर के लोगो की गैर संचारी रोगों की जाँच ए.एन.एम स्वास्थ्य कर्मचारी घर घर जाकर उच्च रक्त चाप, मधुमेह, वजन बढ़ना की जाँच कर उसे एन.सी.डी के मोबाइल एप पर दर्ज करेंगी |
गैर संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएँ मुहैया करने के लिए अनेको कार्यक्रम चलायें जा रहे हैं जिसके लिए सेवा प्रदाता को सूचीवार तरीके से प्रशिक्षितकिया जा रहा हैं | इसी क्रमबद्ध में आज ए.एन.एम ट्रेनिंग सेंटर तेलियरगंज में ग्रामीण क्षेत्र की ए.एन.एम का 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ किया गया |
एन.सी,डी प्रोग्राम के डॉ. शादिक अली ने बताया गैर संचारी रोग जिन्हें लम्बे समय तक चलने वाला रोग भी कहा जाता हैं|गैर संचारी रोग एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति को छूने से नहीं फैलता हैं, शुरू में उनके लक्षण दिखाई नही देते इनका इलाज वर्षों तक और कुछ मामलो में पूरे जीवन काल तक चलता रहता हैं|आज युवा वर्ग गैर संचारी रोगों जैसे उच्च रक्त चाप, मधुमेह, मोटापा, ह्रदय रोग, कैंसर आदि से जूझ रहा हैं जिसका मूल कारण अनियमित जीवन शैली तथा खानपान हैं जिसकी वजह से युवा पूरी तरह से इन रोगों की गिरफ्त में आ रहा हैं |
उन्होंने बताया आज प्रशिक्षण के दौरान ए.एन.एम को क्षेत्र में गैर संचारी रोग की स्क्रीनिग करने के बारे में प्रशिक्षित किया जा रहा हैं जिसके तहत रोगों के कारण, लक्षण तथा रोकथाम के बारे में बताया जा रहा हैं | प्रशिक्षण के उपरांत सभी एन.एम.एम घर घर जाकर जाँच करेंगी तथा परिवार की जाँच रिपोर्ट को एन.सी.डी. मोबाइल एप पर दर्ज करेंगी |
एन.सी,डी के नोडल अधिकारी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी .वी. के मिश्रा ने बताया कि गैर संचारी रोग हमारे देश में समय पूर्व मृत्यु का एक कारण हैं भारत में इस समय जितनी मृत्यु होतो हैं उसका 60 प्रतिशत से अधिक गैर संचारी रोगों के कारण से हो रही हैं एक हज़ार की आबादी में सामान्यता 370 व्यक्ति 30 वर्ष से ऊपर होते हैं गैर संचारी रोग जिन्हें लम्बे समय तक चलने वाला रोग भी कहा जाता हैं गैर संचारी रोग मधुमेह, ह्रदय रोग, लकवा कैंसर तथा चिरकालिक श्वसन रोग हैं | पुरुष महिलाएं तथा सभी आयु वर्ग के लोग लम्बे समय तक इन रोगों के शिकार होते हैं इसके स्क्रीनिग एवं बचाव के लिए ए.एन.एम को प्रशिक्षित कर बेहतर स्वास्थ्य सुविधा दी जाएगी |
प्रतिक्षण के दौरान कौडिहार, बहरिया मंडा की एन.एम.एम, प्रशिक्षक डॉ.रवि चौधरी, डॉ. शैलेश मौर्या ने प्रतिभाग किया |

प्रतीकात्मक फोटो- संचारी रोग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here