प्रधानमंत्री की जनसंख्या पर चिंता से प्रभावित होकर समाज सेवी सरदार पतविंदर सिंह ने विवाह ना करने का किया निश्चय

0
464

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह ने कहा कि गौर करें तो प्रधानमंत्री की चिंता स्वाभाविक है क्योंकि भारत में हर साल तकरीबन सवा करोड़ शिक्षित युवा तैयार होते हैं यह नौजवान रोजगार के लिए सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में अपनी किस्मत आजमाते हैं लेकिन सिर्फ 37 प्रतिशत ही कामयाब होते हैं जनसंख्या वृद्धि कारण प्रतिवर्ष खाद्यआंत की उपयोगिता कम पड़ रही है जिससे लोगों का स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है देश में गरीबों की संख्या 36 करोड़ से भी ज्यादा है यानी देश में हर तीसरा आदमी गरीब हैl
समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह ने कहां की लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में तेजी से बढ़ रही जनसंख्या को लेकर चिंता जताई प्रधानमंत्री ने देशवासियों से छोटे परिवार की अपील करते हुए कहा कि यह भी एक किस्म से देशभक्ति है और छोटे परिवार रखने वाले लोग सम्मान के हकदार हैं इन्हीं बातों से प्रभावित होकर शादी ना करने का निर्णय लिया है जिससे जनसंख्या वृद्धि रोकने में अपना सहयोग प्रदान कर सकूं यही मेरे लिए सही मायने में देश सेवा होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here