मोदी सरकार द्वारा मजदूर वर्ग के हक अधिकार व श्रम कानूनों में किये जा रहे मजदूर विरोधी बदलाव के खिलाफ नोएडा दिल्ली सहित देश भर में हुये विरोध प्रदर्शन

0
186

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
नोयडा/लखनऊ

नोएडा, केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा श्रम कानूनों को खत्म करके मजदूरों को गुलाम बनाने की कोशिशों के खिलाफ केन्द्रीय टेªड यूनियनों संगठनों व फेडरेशनों के संयुक्त देशव्यापी प्रतिरोध दिवस के आहान के तहत शुक्रवार 2 अगस्त 2019 को सी0आई0टी0यू0 गौतमबुद्धनगर कमेटी ने नोएडा सैक्टर-15 मैट्रो स्टेशन के पास विरोध प्रदर्शन कर सभा किया जिसे सम्बोधित करते हुए सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वरदत्त शर्मा ने कहा कि देश के मेहनतकश आवाम ने देश की एकता अखडता राष्ट्रवाद और मेहनतकश गरीब आवाम के जीवन स्तर में सुधार आदि मुद्दों पर मोदी सरकार को जनादेश दिया लेकिन दुवारा बहुमत के साथ सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार बहुमत सत्ता होने के नशे में चूर होकर बिना टेªड यूनियन/ मजदूर संगठनों की सहमति के मजदूरों के हक अधिकारों व सामाजिक सुरक्षा के लिए बने श्रम कानूनों को उद्योगपतियों के पक्ष में खत्म करके वर्तमान 44 श्रम कानूनों को 4 लेवर कोड में बदलकर देश के मजूदरों के साथ धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि श्रम कानूनों में किये जा रहे बदलावों से सामाजिक सुरक्षा में जबरदस्त कटौती हो जायेगी और टेªड यूनियन अधिकारों का खत्मा स्थायीकरण व नोकरी की सुरक्षा भी खत्म हो जायेगी तथा काम के धन्टे बढ़ जायेगी और मजदूरी कम हो जायेगी। इसीलिए इन काले लेवर कोड को देश का मजदूर वर्ग और उनकी टेªड यूनियनों के जबरस्त विरोध कर रही है और इस मुद्दे पर देश में बड़ा जन आन्दोलन खड़ा किया जायेगा जिसकी आज से शुरूआत हो गयी है। सीटू जिला महासचिव रामसागर ने कहा कि मोदी सरकार मजदूरों की गर्दन काटकर मालिकों की सेवा कर रही है जिसे मजदूर वर्ग वर्दास्त नहीं करेगा और इसका डटकर विरोध किया जायेगा।

प्रतिराध्ेा सभा को सीटू नेता रामस्वारथ, भरत डेजर, मदन प्रसाद, मुकेश राधव, इशरत जहां, भीखू प्रसाद, नरेन्द्र पाण्डेय, मिथलेश प्रसाद, रविन्द्र शाह, शाहिद, रंजीत तिवारी, अजीत, रामसागर गंगेश्वर दत्त शर्मा, धर्मेन्द्र, गौतम, बवीता आदि ने सम्बोधित किया इसके बाद सभी प्रदर्शनकारियों ने इंटक, एटक, एच0एम0 सीटू, ए आई0यू0टी0यू0सी, सेवा, यू0टी0यू0सी0 एल0पी0एफ0, एम0ई0सी0 द्वारा संयुक्त रूप संसद भवन नई दिल्ली पर हुए विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया संसद भवन पर हुए विरोध प्रदर्शन को सीटू की राष्ट्रीय नेता ए0आर0 सिन्धु, तपन सैन, अनुराग सक्सैना, विरेन्द्र गौड सहित विभिन्न टेªड यूनियनों के राष्ट्रीय नेताओं ने सम्बोधित किया और मोदी सरकार को चेतावनी दिया कि मोदी सरकार मजदूरों के हक अधिकारों और श्रम कानूनों को कुचलने की साजिश बंद कर उनकी 18000/- न्यूनतम वेतन करने सहित विभिन्न मांगों /समस्याओं का समाधान करें अगर सरकार अपनी हरकतों से बाज नहीं आयी तो वे पूरे देश में जन जागरण अभियान चलाकर मजदूरों को संगठित कर पूरे देश में चक्का जाम कर देगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here