मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी स्मार्ट सिटी की साप्ताहिक बैठक, शहर को साफ-सुथरा एवं अतिक्रमण मुक्त बनाने की बनी रणनीति

0
373

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल की अध्यक्षता में स्मार्ट सिटी के कार्यों की बैठक आयुक्त कैम्प कार्यालय मे की गयी। बैठक में जिलाधिकारी श्री भानुचन्द्र गोस्वामी, वीसी एडीए श्री टी एस शिबू, नगर आयुक्त प्रयागराज डॉ. उज्जवल कुमार, अपर आयुक्त प्रथम सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण एवं स्मार्ट सिटी के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में मुख्य रूप से शहर के अतिक्रमण, साफ-सफाई, यातायात व्यवस्था, जल निकासी, आवारा पशुओं तथा शहर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए बेहतर प्रयोगो पर विचार किया गया।
बैठक में मण्डलायुक्त ने स्मार्ट सिटी के तहत शहर मे लगने वाले कैमरों की जानकारी ली। जिसमें बताया गया कि आईसीसीसी के तहत 65 लोकेशन को चिन्हित कर लिया गया तथा शेष लोकेशन को चिन्हित करने का कार्य किया जा रहा है। मण्डलायुक्त ने इस कार्य को तेजी से करने के निर्देश के साथ पुलिस विभाग तथा प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को इसमें सहयोग तथा मानीटरिंग करने को कहा। उन्होंने स्मार्ट सिटी के कार्यों को और तेजी लाने के साथ कार्यों की निरन्तर मानीटरिंग के लिए डीआईजी एवं प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष स्तर पर सप्ताह दो से तीन बार बैठक कर लेने के निर्देश दिये। उन्होंने शहर में रिलायंस जियो की लगनी वाली हाईमास्ट लाईटों की जानकारी ली। उन्होंने शहर में लगने वाले कैमरों के बारे में अधिकारियों को निर्देशित किया कि कैमरों की विशेषीकरण की जानकारी के लिए तथा अन्य तकानीकी पहलूओं को समझने के लिए आईटी स्तर के विशेषज्ञों के मदद लेने को कहा है।
बैठक में शहर में सालिड वेस्ट मैनेजेंमेंट के बारे में जानकारी ली। जिसमें बताया गया कि स्थलों का चिन्हीकरण किया जा रहा है। इसी के साथ मल्टीपल एलाउसमेंट की व्यवस्था करने पर विचार करने को कहा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था से स्थान विशेष पर सम्बन्धित जानकारी दी जा सकेगी। शहर में चौबीस घंटे पानी की सप्लाई के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस कार्य के लिए दूसरें शहरो के मॉडल को देखा जाय तथा उक्त मॉडल को प्रयागराज में एप्लाई करने पर विचार किया जाय।
शहर में आडिटोरियम बनने के लम्बित प्रस्ताव पर मण्डलायुक्त ने निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इसके लिए संस्कृति विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क कर आ रही समस्याओं को दूर करें। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के कार्यों के लिए कम्पनियों के प्रेजेटेंशन देखे जाय उसी के आधार पर कार्यों के लिए कम्पनियों का चयन किया जाय।
जिलाधिकारी प्रयागराज ने बताया कि स्कूलों, अस्पतालों एवं कोचिंग संस्थानों के प्रतिनिधियों से बैठक कर ली गयी तथा उन्हें निर्देशित किया गया है कि वे अपने संस्थान में आने वाले वाहनों की पार्किंग हेतु सिक्योरिटी गार्ड को यूनिफार्म मे तैनात करें जिससे वाहनों के आवागमन से शहर में जाम की स्थिति उत्पन्न न हो। मण्डलायुक्त ने मन्दिरों एवं संगम क्षेत्र में पार्किंग की जानकारी ली तथा निर्देशित किया कि उक्त स्थलों पर किसी प्रकार की जाम की स्थिति न उत्पन्न हो, इसके लिए सम्बन्धित संस्थाओं के प्रतिनिधियों से वार्ता की जाय। उन्होंने शहर को जाममुक्त कराने के लिए बेंगलुरू पार्किंग माडल पर विचार करने का निर्देश दिया। उन्होंने प्राइवेट स्थलों पर खाली जमीनों पर पार्किंग किये जाने पर विचार किये जाने को कहा।
मण्डलायुक्त ने कहा कि शहर की सड़कों नियमित रूप से दुरूस्त किया जाय तथा उन्होंने कहा कि अगले माह से वे खुद प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सड़को एवं शहर की मूलभूत व्यवस्थाओं के निरीक्षण पर निकलेंगे। उन्होंने एसपी मार्ग एवं एमजी मार्ग पर अतिक्रमण हटाने के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने शहर में जलभराव की समस्या का संज्ञान लेते हुए नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि इसमें अधिक से अधिक गैंग लगाकर तथा नियमित रूप से जल निकासी सुनिश्चित की जाय। उन्होंने शहर के आवारा पशुओं पर नकेल कसने के लिए नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here