उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा बेरोजगार नवयुवक/नवयुवतियों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर एवं स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से महत्वपूर्ण कार्यक्रम/योजनाएं की जा रही संचालित

0
417

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा स्वरोजगार के विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में निवास कर रहे बेरोजगार नवयुवक/नवयुवतियों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर एवं स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से महत्वपूर्ण कार्यक्रम/योजनाएं संचालित की जा रही हैं। राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अन्तर्गत रू-10.00 लाख पूॅजीनिवेश तक की परियोजनाएं/प्रोजेक्ट स्थापित किये जाते हैं, जिसपर टर्म लोन (पूॅजीगत ऋण) पर सामान्य वर्ग के उद्यमियों को 4ः ब्याज एवं आरक्षित वर्ग (पिछडी जाति, अन्य पिछडी जाति, अनुसूचित जाति, विकलांग, भूतपूर्व सैनिक, महिलायें) को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध है। सामान्य जाति के उद्यमी को परियोजना लागत का 5ः अंशदान स्वयं का निवेश करना होता है, जबकि सामान्य वर्ग के उद्यमी को 10ः अंशदान अपनी स्थापित परियोजना में लगाना होता है। 
भारत सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थियों के लिए 25 लाख तक की परियोजनाएं/प्रोजेक्ट स्थापित कराये जा रहे हैं, जिसमें 10 लाख तक के प्रोजेक्ट सेवा आयोग हेतु अनुमन्य है तथा उत्पादन कार्य से सम्बन्धित उद्योग 25 लाख तक अनुमन्य है। इस योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थियों ग्रामीण क्षेत्र में अपना उद्यम स्थापित करने के लिए 35ः मार्जिन मनी अनुदान कुल परियोजना लागत पर भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है, जो कि आरक्षित वर्ग (पिछडी जाति, अन्य पिछडी जाति, अनुसूचित जाति, विकलांग, भूतपूर्व सैनिक, महिलायें) अनुमन्य है। सामान्य जाति के पुरूष वर्ग को 25ः मार्जिन मनी अनुदान अनुमन्य है। सामान्य जाति के उद्यमी को परियोजना लागत का 5 प्रतिशत अंशदान स्वयं का निवेश करना होता है, जबकि सामान्य वर्ग के उद्यमी को 10ः अंशदान अपनी स्थापित परियोजना में लगाना होता है।
उपरोक्त के अतिरिक्त पी0एम0ई0जी0पी0 योजना के लाभार्थियों को राज्य सरकार द्वारा पं0 दीन दयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजना के माध्यम से 03 वर्षाें तक इकाई के ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित होने तथा कार्यरत रहने की दशा में ब्याज उपादान का लाभ सम्बन्धित लाभार्थियों को प्रदान किये जाने की व्यवस्था है। उक्त सभी लाभ प्रदेशवासियों  के लिए आनॅलाइन उपलब्ध है, जिसके लिए लाभार्थी को कार्यालय अथवा बैंक अनावश्यक रूप से भाग-दौड नहीं करनी पडेगी और उनका समय भी बचेगा जिसका उपयोग अपने हित के लिए लाभार्थीजन कर सकेंगे।
जनपद प्रयागराज के विकास खण्ड-फूलपुर के पंचायत भवन ग्राम- लिलहट में आयोजित एक दिवसीय जागरूकता शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में पधारें ग्राम प्रधान लिलहट श्री दिलीप यादव एवं मण्डल अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी द्वारा उक्त विचार व्यक्त किये गये। इस अवसर पर श्री राम औतार यादव, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी, प्रयागराज, श्री लाल जी धुरिया, प्रधान सहायक, श्री राम करन दुबे, सहा0वि0अधि0(।।) श्री सुनील कुमार, कनिष्ठ सहायक एवं काफी संख्या में स्थानीय व्यक्तियों एवं महिलाएं उपस्थित थी। यह जानकारी जिला गा्रामोद्योग अधिकारी, प्रयागराज ने दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here