बिजली विभाग की लापरवाही हुई उजागर, कही 24 घण्टे व कही 72 घण्टे से ऊपर हो गया सप्लाई पूर्ण रूप से हुई बाधित

0
481

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
बस्ती

सीजन की पहली बरसात शुरू होने के बाद जिले की बिजली सप्लाई लगभग पूर्ण रूप से ठप्प हो गयी के बाद कही 24 घण्टे व कही 72 घण्टे से ऊपर हो गया सप्लाई पूर्ण रूप से बाधित हो गयी है जिसके चलते लोगो के जीवन जैसे ठप्प सा हो गया है। उधर लगातार बारिश जहाँ जन-जीवन बुरी तरह बेहाल हो गया है वही बिजली विभाग की लापरवाही के चलते और बुरा हाल हो गया है। विजली विभाग के दावों की पोल खुलने के बाद विद्वउत विभाग के अधिकारियों ने मोबाइल उठाने से कतराते नजर आ रहे है। चाहे जिले स्तर पर फोन किया जाय य फिर हेल्प लाइन से फोन किया जाय जेई फोन रिसीव ही नही करते और कम्प्लेन का निस्तारण में यह लिखकर पल्ला झाड़ लेते है कि आधी तूफान य फिर जर्जर तार होने से बिजली बाधित हो रही है और मरम्मत कियाजा रहा है। लेकिन क्या कभी किसी ने यह नही सोचा कि वारिस आने वाली है इसके पहले पोल एव तार के अगल बगल के झाड़ को साफ किया जाय लेकिन महकमे के लोगो को इसकी क्या जरूरत उन्हें तो सरकार से एक मोटी रकम हर माह मिल ही रही है और इसके बाद बिजली विभाग में कार्यरत ठेकेदारों से भी अच्छी रकम कमीशन के रूप में उनके कार्यो के सत्यापन में मिल ही रहा है। चाहे वह मीटर लगाने की वात हो या फिर ट्रांसफार्मर लगाने की बात हो ट्रांसफार्मर तो कंज्यूमर अपने सन साधन से ले जाते है और भुगतान ठेकेदार की होती है और रही बात विजली की सप्लाई ठीक कराने की तो इसमें भी ठेकेदार अधिकारियों और जेइयो कि मदद के हर माह लाखो रुपये का वर न्यारा कर रहे इससे इन्हें यह बिल्कुल चिन्ता नही की कंज्यूमर को सप्लाई मिल रही है कि नही। बताते चले जिले के एक भी ऐसा फीडर नही जो पहली बरसात में ध्वस्त न हो गया हो और जिसके चलते जिले की सप्लाई पूर्ण रूप से ठप्प न पड़ गयी ही वही बोड़वारा दिकटौली फीडर की बात करे पिछले चार दिनों से ठप्प स हो गया है जेई फोन उठाते नही और सरकार द्वारा जारी शिकायत टोल फ्री नम्बर पर तो यह फीडर अंकित ही नहीँ वहाँ यह कह कर पल्ला झाड़ लिया जा रहा है कि आप का फीडर सो ही नही कर रहा
और इस सब के बीच कंज्यूमर मर रहा और बिभागीय कर्मचारियों को इसकी कोइ फिकर नही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here