हिन्दी मीडिएट की मान्यता पर अंग्रेजी माध्यम विद्यालय संचालित, विभाग मौन

0
563

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज/शिवराजपुर

शंकरगढ भारत ही नही पूरे विश्व में शिक्षा का महत्व है जंहा शिक्षा का स्तर अच्छा है वंहा पर उन्नति तथा विकास की गंगा बह रही है लेकिन उ0प्र0 में शिक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है कक्षा एक से पांच या आठ तक आकाओं के चक्कर लगाकर तथा अधिकारियों को गलत जानकारी देकर मान्यता तो ली है फिर भी इण्टर तक चला रहे है जो उ0प्र0 सरकार के शिक्षा विभाग तथा उo प्रo सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की छवि धूमिल करने में गिरोह सक्रिय है उन पर प्रशासन कब शिकंजा कसेगा यह भगवान ही जाने। गौरतलब हो कि शंकरगढ में कुकुरमुक्ता की तरह संचालित हो रहे गैर मान्यता तथा अप्ल कक्षायें संचालित करने की मान्यतायें लेकर इण्टर मीडिएट विद्यालय संचालित हो रहे है जिनके बड़े-बड़े बैनर व बाल पेटिंग, पोस्टर चौराहों पर लगे है जिसमें साफ-साफ लिखा है कि उक्त विद्यालय हिन्दी व अंग्रेजी माध्यम की कक्षायें संचालित करता है। जिसमें होनहार छात्रों को फास कर लम्बी रकम लेकर उन्होने ऐसे जाल में फसा लेते है जैसे मकड़ी का जाल हो। आपको बताते चले कि शंकरगढ स्थित विद्यालयों की हालत तो यह है कि छात्रों को बैठने तथा पानी, हवा, शौचालय आदि तक की उचित व्यवस्था नही है लेकिन इण्टर की क्लासे संचालित हो रही है क्या जिला प्रयागराज के शिक्षा विभाग के अधिकारियों को इन फर्जी क्लासे चलने वाले विद्यालय की जानकारी नही है। लोगो की माने तो उनका कहना है कि शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारी के पास उक्त शिक्षा माफिया प्रत्येक माह मोटी रकम पहुंचा देते है जिसके चलते कोई कार्यवाही नही होती ह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here