बीएसए की कृपा से मानक विहीन अवैध विद्यालय रोज गार्डन पब्लिक स्कूल का अनवरत अवैध संचालन जारी

0
729

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
प्रयागराज

जनपद के यमुनापार स्थित करछना तहसील अंतर्गत राम का पूरा, पीड़ी में मानक विहीन अवैध विद्यालय रोज गार्डन पब्लिक स्कूल का अनवरत संचालन संजय कुमार कुशवाहा, बीएसए प्रयागराज की कृपा से इसके प्रबन्धक सालिगराम शुक्ल व अजय शुक्ल द्वारा खुले आम किया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार आर के पाण्डेय एडवोकेट की शिकायत पर औपचारिक रूप से 16 सितम्बर 2015 के अपने पत्र में तत्कालीन एबीएसए प्रीति सिंह ने इस विद्यालय को मानक विहीन अवैध व अमान्य मानकर 23 अन्य विद्यालयों के साथ थानाध्यक्ष कौंधियारा को एफआईआर दर्ज करके विधिक कार्यवाही करने को पत्र लिखते हुए शासन को भी सूचित किया था परन्तु ऊंची पकड़ वाले प्रबन्धक ने एफआईआर नही होने दी थी। मई व जून 2017 में पुनः आर के पाण्डेय ने इन अवैध विद्यालयों की शिकायत की व 28 जून 2019 को मुख्यमंत्री के जनता दरबार मे शिकायत करने के साथ ही मा0 न्यायालय में भी मुकदमा दर्ज कराया जिसके बाद प्रशासन हरकत में आकर रोज गार्डन पब्लिक स्कूल के खिलाफ भी 10 जुलाई 2017 को एफआईआर करा दिया व स्कूल को एसडीएम करछना ने सीज कर दिया तथा विवेचक ने चार्जशीट फ़ाइल कर दी परन्तु इन सबके बावजूद संजय कुमार कुशवाहा, बीएसए प्रयागराज ने विद्यालय को बचाने का मौखिक ठेका लेते हुए अपने मातहत बीईओ प्रीति सिंह की फर्जी रिपोर्ट पर इस विद्यालय को हिंदी माध्यम से कक्षा 01 से 05 तक की मान्यता दे दी। मान्यता हेतु आवेदन में लगाये गए दस्तावेज के अनुसार उप निबन्धक करछना के यहां से पंजीकृत किरायेदारी का अनुबंध पत्र शोभऊ का पूरा के एक बुजुर्ग का घर दिखाया गया जोकि अवैध है क्योंकि उस घर में मात्र 03 कमरे हैं जबकि लिखित में 08 कमरे दिखाए हैं। इस प्रकार संजय कुमार कुशवाहा एवं प्रीति सिंह की सलाह पर सालिग राम शुक्ल व अन्य ने मिलकर प्रदीप कुमार तिवारी नामक वकील के जरिये किरायेदारी का कूटरचित दस्तावेज तैयार करके लगाया व अग्निशमन तथा नेशनल बिल्डिंग कोड का भी फर्जी पत्र लगवाकर मान्यता तो लिखित में दे दिया परन्तु आर के पाण्डेय एडवोकेट की पुनः शिकायत पर विभा सिंह, जांच अधिकारी ने 25 मई 2018 की अपनी जांच रिपोर्ट में खुलासा किया है कि रोज गार्डन पब्लिक स्कूल पूरी तरह मानक विहीन व अवैध है जोकि शोभऊ का पूरा के बजाय बिना राम का पूरा में चलता है। बता दें कि मात्र 03 कमरे में मानक विहीन रोज गार्डन पब्लिक स्कूल बिना मान्यता के 01 से 10 तक की कक्षाओं का अवैध संचालन बीएसए की कृपा से अनवरत कर रहा है जिसकी शिकायत पीएम मोदी व राष्ट्रपति आदि से भी की जा चुकी है। अब देखना दिलचस्प होगा की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले सीएम व पीएम रोज गार्डन पब्लिक स्कूल के बारे में क्या निर्णय लेते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here