संयुक्त सचिव भारत सरकार सुरजीत बनर्जी एवं जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जलशक्ति अभियान की बैठक सम्पन्न

0
579

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

भारत सरकार के संयुक्त सचिव श्री सुरजीत बनर्जी एवं जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में जलशक्ति अभियान की बैठक की गयी, जिसमें प्रयागराज विकास प्राधिकरण के वीसी टी0के0 शिबू, मुख्य विकास अधिकारी- अरविंद सिंह, डी0डी0ओ श्री पी0के0 सिंह, पी0डी0डी0आर0डी0ए0 श्री के0के0 सिंह सहित चयनित किये गये 05 ब्लाकों के खण्ड विकास अधिकारी सहित सम्बन्धित समस्त अधिकारीगण मौजूद थे। चयनित किये गये ब्लाकों में चाका, बहादुरपुर, बहरिया, प्रतापपुर, धनूपुर है।
जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान कार्ययोजना तैयार किया गया, जिसमें शहरी क्षेत्रों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के तहत जितने सरकारी भवन है, जैसे पंचायत भवन, आंगनवाड़ी केन्द्र के अलावा जो 5 ब्लाकों का चयन किया गया है, उसमें जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित किया कि जो भी इण्टरमीडिएट कालेज है, उनके प्रबन्धकों की एक कार्यशाला का आयोजन करे तथा उनको इसकी उपयोगिता के बारे में विस्तृत जानकारी दे। इसी क्रम में बेसिक शिक्षा अधिकारी को भी बताया गया कि जो भी प्राइवेट स्कूल है, उनको चिन्हाॅकन कर उसमें रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाये जाय तथा जो ब्लाक तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र है तहसील इत्यादि में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लागू किया जाये। यह कार्यक्रम 01 जुलाई से 15 सितम्बर तक पहला अभियान की शुरूआत की गयी है तथा ये अभियान अनवरत चलता रहेगा। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने तलाबों के बारे में जानकारी ली और बताया कि यथाशीघ्र 02 दिन के अन्दर चिन्हाॅकन कर कार्य प्रारम्भ कर दिया जाये और उन्होंने बताया कि 500 से अधिक तलाबों में पानी भरने के साथ-साथ उसका फोटोग्राफ्स जो पहले था और जो कार्य बाद में किया गया उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने डी0सी0 मनरेगा को निर्देशित किया कि प्रत्येक राजस्व ग्राम में ऐसे जगहों को चिन्हित कर लीजिए जो सीमान्त एवं लघु सीमान्त क्षेत्रों के किसान आते है। उन पर 01 मीटर की मेढ़ बन्धी बनाकर उस पर वृक्षारोपण का कार्य कराना है। जिलाधिकारी ने कृषि अधिकारी को निर्देशित किया कि उन खेतों में हाइबिड्र धान की रोपाई करायी जाये तथा जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायतों में दो हैण्ड पम्प को मार्डन शो-फीट बनाना है तथा जहां पर भी हैण्डपम्पों की शो-फीट बनेगा वहां पर होर्डिंग्स आदि लगाने के निर्देश भी दिये। इसी क्रम में ब्लाक स्तर पर ग्राम प्रधानों की कार्यशाला आदि का आयोजन कराने तथा जनपद स्तर पर शिक्षकों की कार्यशाला का आयोजन कराकर उसकी उपयोगिता बताने के निर्देश दिया गया। जल निगम के अधिशाषी अभियन्ता को निर्देशित किया कि जितने आपके पास पेयजल योजना निर्मित है, उनके पानी का बहाव (लिकेंज) इत्यादि चेक कर लीजिए तथा चयनित पांचो ब्लाकों में जो भी प्रोजेक्ट चल रहे है, उसको चिन्हित करते हुए फोटोग्राफ्स उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने तलाबों के किनारे वृक्षारोपण का कार्य करने के भी निर्देश दिये है। नलकूप के अभियन्ता को निर्देशित किया कि चयनित ब्लाकों में नलकूप द्वारा जो पानी जाता है, उसमें पक्की नाली का निर्माण किया जाये। इसी क्रम में प्रयागराज विकास प्राधिकरण एवं नगर निगम अपने क्षेत्रों को भी चेक कर ले कि कोई पानी का लिकेंज न रहें।