13 वां राष्ट्रीय सांख्यिकीय दिवस का आयोजन

0
357

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

बीते शनिवार को कार्यालय जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, प्रयागराज में प्रो0पी0सी0 महालनोबिस के जन्म दिवस को राष्ट्रीय सांख्यिकीय दिवस के रूप में मनाया गया, जिसका मुख्य विषय ‘‘ैनेजंपदंइसम क्मअमसवचउमदज ळवंसे‘‘ रहा।
राष्ट्रीय सांख्यिकीय दिवस के कार्यक्रम में सर्वप्रथम प्रो0पी0सी0 महालनोबिस के छायाचित्र पर माल्यार्पण किया गया। कार्यक्रम का संचालन कर रहे डा0डी0डी0 सिंह, अपर सांख्यिकीय अधिकारी द्वारा प्रो0 महालनोबिस के जीवनवृत्त पर प्रकाश डालते हुए उनके योगदान को बताया गया। साथ ही प्रो0 महालनोबिस को सांख्यिकीय क्षेत्र में उनके महत्वपूर्ण योगदान- महालनोबिस डिस्टेन्स, पाइलट सर्वे, महालनोबिस माॅडल को रेखांकित करते हुए भारतीय सांख्यिकी संस्थान के संस्थापक के रूप में भी उल्लेख किया गया। आज के मुख्य विषय ैनेजंपदंइसम क्मअमसवचउमदज ळवंसे पर डा0 अर्चनारानी श्रीवास्तव, अपर सांख्यिकीय अधिकारी ने बताया कि ैनेजंपदंइसम क्मअमसवचउमदज ळवंसे की अवधारणा न्दपजमक छंजपवदे व्तहंदपेंजपवद ब्वदमितमदबम 2012 से प्रकाश में आयी है, जिसके द्वारा 17 लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं, जिन्हें संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 सदस्य देशों को वर्ष 2030 तक प्राप्त कर लेना है। प्रमुख लक्ष्य निर्धनता को हटाना, भुखमरी को भगाना, स्वास्थ्य एवं शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाना, नारी सशक्तीकरण, स्वच्छता, सम्मानजनक कार्य, आर्थिक विकास, जल के अन्दर जीव-जन्तुओं का संरक्षण तथा पृथ्वी के उपर जीवन का संरक्षण तथा सभी व्यक्तियों में शान्ति एवं सामंजस्य बनाये रखना है। इसी के साथ श्री अरविन्द कुमार सक्सेना, अपर सांख्यिकीय अधिकारी द्वारा आंकड़ों की गुणवत्ता के संबंध में संग्रहकर्ता के प्रशिक्षण पर बल देते हुए प्रो0 महालनोबिस की जयन्ती का मूल आशय बताया।
श्री मनोज कुमार त्रिपाठी, अपर सांख्यिकीय अधिकारी ने बताया कि भारत सरकार द्वारा वर्ष 2006 से राष्ट्रीय सांख्यिकीय दिवस के रूप में प्रो0 महालनोबिस की जयंती मनाने हेतु निर्णय लिया गया तथा सतत् व धारणीय विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने का आहवान किया गया। श्री मनमोहन प्रसाद पाण्डेय, स0वि0अ0 (सां0), वि0ख0-बहादुरपुर एवं श्री गनवीर सिंह, स0वि0अ0 (सां0), वि0ख0-कौड़िहार द्वारा सांख्यिकीय आंकड़ों में सुधार व गुणवत्ता बनाये रखने पर बल दिया। श्रीमती निधि रस्तोगी, अपर सांख्यिकीय अधिकारी द्वारा विभागीय सांख्यिकीय कार्यो की गुणवत्ता के महत्व को रेखांकित किया गया। इसी कड़ी में कु0 स्वाती सिंह, सहायक सांख्यिकीय अधिकारी द्वारा एन0एस0एस0 के सर्वे में आने वाली समस्याओं को रेखांकित करते हुए सर्वे के कार्यक्रम के प्रचार-प्रसार पर बल दिया। श्री राजेश कुमार श्रीवास्तव अपर सांख्यिकीय अधिकारी, श्री रविकान्त त्रिपाठी व0स0 (स्था0), श्रीमती परिपूरता सिंह क0स0 एवं श्री कमलेश कुमार क0स0 ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम के समापन के समय अध्यक्षता कर रही श्रीमती बबिता सिंह, अपर सांख्यिकीय अधिकारी द्वारा 13वें राष्ट्रीय सांख्यिकीय दिवस के विषय को सारगर्भित बताते हुए प्रो0 महालनोबिस जी के योगदान के कारण सांख्यिकीय विभाग के अस्तित्व में आने की बात कही तथा आंकड़ों की विश्वसनीयता को अत्यन्त महत्वपूर्ण बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here