गरीबों के खाद्यान पर कोटेदार ने डाला डांका, 3 महीने से गरीब जनता को नहीं दिया राशन, कोरांव तहसील क्षेत्र के मानपुर गाँव का है मामला

0
389

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
कोराव (प्रयागराज)

कोराव तहसील क्षेत्र के मानपुर गाव के कोटेदार जो अंत्योदय व पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों से फिंगर लगवाकर राशन नहीं देता था तथा घटतौली करता था मूल्य से अधिक लोगो से पैसा लेता था और यदि कोई शिकायत करता था तो उसका कार्ड कटवाने व फर्जी मुकदमो में फंसाने की धमकी देता था उक्त कोटेदार को पूर्व में भी दो बार उच्चाधिकारियो द्वारा निलंबित किया जा चुका था तथा चेतावनी भी दी जा चुकी थी लेकिन उक्त कोटेदार अपनी मनमानी व हेराफेरी के स्वभाव को नही बदल पा रहा था और लोगो से फिगर लगवा कर लोगो को चक्कर कटवाता रहा उक्त कोटेदार की मनमानी से कार्ड धारक आजिज होकर उच्चाधिकारियों से लिखित व मौखिक शिकायत की जिसपर पूर्ति निरीक्षक कोराव रमाकांत तिवारी द्वारा गाव में आकर कार्ड धारकों से जाँच किये शिकायत सही पाए जाने पर उक्त जाँच आख्या रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी गई उक्त दुकान को डीएम ने निलंबित कर दिया और बगल के कोटेदार हिन्छलाल को वितरण करने की जिम्मेदारी सौंप दी उक्त दुकान को 10 दिन निलंबित हुए हो गया लेकिन अभी तक निलंबित कोटेदार से वर्तमान कोटेदार को राशन नहीं मिला जिससे कार्ड धारकों को राशन नहीं मिल पा रहा है । उक्त कोटेदार तीन माह का राशन काफी हेराफेरी किया है जिसकी शिकायत भी ग्राम प्रधान व बीडीसी समेत अन्य कई लोगो ने उपजिलाधिकारी कोराव से की है लेकिन अभी तक तीन माह का गमन राशन का हिसाब का पता ग्रामीणों को नही मिला तथा निलंबित कोटेदार का गोदाम नहीं चेक किया गया । जिससे निलंबित कोटेदार के हौसले बुलंद है और गाव में कुछ अराजक तत्त्वों को लेकर गुंडई के बल पर हस्ताक्षर कराने का दबाव बना रहा है। फिलहाल ग्रामीणों ने डीएम प्रयागराज से माँग की है कि अप्रैल मई जून माह का कितना राशन दिया गया था और कितना हकीकत में वितरण किया गया है इसकी जाँच टीम बनाकर तत्काल करवाने की माँग की है और यदि शिकायत सत्यता पाई जाती है तो विधिक कार्यवाही कराई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here