कृषि विभाग द्वारा आयोजित की गयी किसान पाठशाला, फसल सुरक्षा, रोगों और किटों के बारे में दी गयी जानकारी

0
460

मनोज शुक्ला की रिपोर्ट
बढ़नी, सिद्धार्थनगर

कृषि विभाग द्वारा आयोजित किसान पाठशाला के प्रथम चरण के चौथे व अन्तिम दिन ग्राम पंचायत बरगदवा विकास खण्ड बढ़नी में बतौर प्रशिक्षक विशाल सिंह खण्ड तकनीकी प्रबंधक राजकीय बीज भण्डार बढ़नी ने किसानों को खरीफ में फसल सुरक्षा ,रोगों और किटों के बारे में बताया कहा कि खरीफ में रोगों और किटों का प्रकोप बहुत अधिक होता है बेहतर उपज के लिए इसका नियंत्रण बहुत ही जरूरी है दीमक के अधिक प्रकोप वाले क्षेत्र में 10 कुंतल नीम की खली प्रति हे० के हिसाब से बुवाई के पूर्व खेतों में मिलाने इस का प्रकोप कम हो जाता है इसके अलावा ब्यूवेरिया बैसियाना से भी भूमि में किटों का नियंत्रण हो जाता है किटों रोगों को पहचान कर विशेषज्ञ के सलाह अनुसार ही रसायन खरीदना चाहिये कृषि रक्षा रसायनों का परयोग तभी करना चाहिए जब रोग व किटों की अधिकता हो जहां तक संभव हो सबसे कम विषाक्त जिस पे पीले रंग का निसान हो उसका ही प्रयोग करना चाहिये इसके अलावा भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित कृषि रक्षा रसायनों के बारे में बताते हुये खेतों में जल प्रबंधन के उपाय के बारे में किसानों को विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुये कृषि रक्षा रसायनों के प्रयोग सम्बंधित बचाव के बारे में किसानों को बेहतर सुझाव दिये इस बीच ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राकेस पांडेय समेत सैकडों किसान मौजूद रहे इसी क्रम में बीकस खण्ड के विभिन्न ग्रामपंचयतो में प्राविधिक सहायक रामसेवक , महेंद्र पल सहायक विकास अधिकारी राजपाल सिंह ,सहायक तकनीकी प्रबंधक कृष्णवीर व इन्शान अली ने किसानों को बतौर प्रशिक्षक जानकारी देते हुए जागरूक किया खण्ड तकनीकी प्रबंधक विशाल सिंह ने बताया कि पाठशाला का दूसरा चरण दिनांक 17 से 20 तक प्रातः 9 बजे से 10 .30 तक चलेंगी ।
दूसरी चरण की किसान पाठशालाओं का आयोजन विकास खण्ड के ग्राम बगही, गोलौरा मुस्तहकम ,मटियार उर्फ भुताहवा ,मनिकौरा ,तालकुंडा, मिश्ररौलिया, खम्हरिया, चरिगवां ग्रामपंचयतो के प्राथमिक विद्यालयों मे चलेंगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here