पारिवारिक कलह से तंग आ कर नदी में कूदकर डूब रहे युवक की प्रभारी निरीक्षक धनघटा ने बचाई जान, सोसल मीडिया के फिर बने हीरो

0
576

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
संतकबीर नगर

पारिवारिक कलह की वजह से किसी ने अपनी जिंदगी खत्म करनी चाही तो अचानक फरिश्ता बनकर आये थाना प्रभारी घनघटा रणधीर मिश्रा ने उसे डूबने से बचाकर पुनः जिंदगी दे दी।
प्राप्त समाचार के अनुसार उमेश पुत्र रामदीन यादव निवासी ग्राम गोपियापुर की उसके छोटे भाई रमेश से कहासुनी हो गई और इसी बीच एक थप्पड़ मार दिया। परिवार में गाली गलौज भी हुआ । आज उमेश के घर में उसके बड़े पिता रामअधार के लड़के का मृत्योपरान्त दसवां था।परिवार के सभी लोग व्यस्त थे। प्रभारी निरीक्षक धनघटा रणधीर कुमार मिश्रा चुनाव ड्यूटी हेतु चुनाव ब्रीफिंग में जाते समय गाड़ी को जैसे ही फोन से वार्ता करने के लिए गाड़ी को रोक उसी बीच पारिवारिक विवाद से परेशान होकर उमेश पुत्र रामदीन अपना मोबाइल नदी के किनारे रखकर मुखलिशपुर कुआनो नदी में छलांग लगा दिया । प्रभारी निरीक्षक की टीम द्वारा तत्काल गाड़ी में रखे रस्सा को निकाल कर नदी में फेंक कर उमेश की जान बचाई गई । तत्पश्चात उसे थाने लाकर उसके इस कृत्य के बारे में पूछताछ किया जा रहा है तथा उसे भविष्य में ऐसा कदम ना उठाने के बारे में मानवीयता के दृष्टिकोण के तहत समझाया जा रहा है।
सर्वविदित है कि इंस्पेक्टर रणधीर कुमार मिश्रा जिस भी थाने पर रहे उस थाना क्षेत्र के लोगो के दिलो पर राज करते रहे। उनके न्याय प्रियता का हर कोई प्रभावित है। वे स्वच्छता के प्रति काफी सजग हैं। वे जहाँ भी रहे चाहे बस्ती जनपद का कलवारी थाना, पुरानी बस्ती, कप्तानगंज, सोनहा, रुधौली थाना हो या सिद्धार्थनगर जनपद के इटवा, खेसरहा, शोहरतगढ़ थाना सहित संतकबीरनगर जनपद का घनघटा थाना, थाना परिसर हमेशा स्वच्छ व सुन्दर रहा जो सोसल मीडिया पर भी चर्चा का विषय बना रहा।
बताते चले कि इन्होंने रुधौली थानाक्षेत्र में आग लगने की वजह से असहाय गुप्ता परिवार की शादी कराकर व खेसरहा थाना क्षेत्र में शव का दाह संस्कार करवाकर, समाज को एक अच्छा संदेश देते हुए मानवता का पाठ पढ़ाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here