आखिर कैसे मेधावी प्रधानाचार्य का पुत्र एक साथ दो बोर्ड किया पास, जबकि प्रयागराज शहर में ही है सीबीएसई का क्षेत्रीय कार्यालय तथा यूपी बोर्ड का मुख्यालय

0
747

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
नैनी/प्रयागराज

समरथ को नहीं दोष गुसाँई के कहावत को चरितार्थ किया है एक मेधावी प्रधानाचार्य पुत्र ने। उसने एक साथ दो बोर्ड से रेगुलर परीक्षा पास कर ली।
जानकारी के अनुसार पूजा चन्दोला महर्षि विद्या मंदिर, नैनी, प्रयागराज की प्रधानाचार्य हैं जोकि 2009 में बिना मान्यता के इसी विद्यालय में इंटर की कक्षाएं चलाती थी व उसमे अध्ययनरत सभी 18 विद्यार्थियों का नाम महर्षि विद्या मंदिर, ओल्ड मुगल रोड, फतेहपुर में भी लिखा रखा था। उपरोक्त पूजा चन्दोला ने अपने पद का दुरुपयोग करके अपने बेटे कार्तिकेय चन्दोला पुत्र महेश चंद्र चन्दोला को सीबीएसई बोर्ड के अंतर्गत 2008-09 में महर्षि विद्या मंदिर, ओल्ड मुगल रोड, फतेहपुर से रेगुलर इंटर पास कराया जहां उसका अनुक्रमांक 5648426 था तो वहीं उसी कार्तिकेय चन्दोला ने यूपी बोर्ड अंतर्गत आदर्श शिक्षा निकेतन, उत्तरी लोकपुर, नैनी, प्रयागराज से भी इंटर की रेगुलर परीक्षा 2008-09 में ही पास की जहां उसका अनुक्रमांक 1117184 था तथा 500 में 281 अंक प्राप्त करके द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुआ। आश्चर्य तो यह है कि प्रयागराज शहर में ही सीबीएसई का क्षेत्रीय कार्यालय तथा यूपी बोर्ड का भी मुख्यालय है व इन सभी के अधिकारियों को इस प्रकरण की लिखित शिकायत भी की गई लेकिन समय से कार्यवाही क्यों नहीं की गई? भ्रष्टाचार का आलम यह है कि लिखित शिकायत विगत दस वर्षों से लंबित है परन्तु किसी भी अधिकारी को इतने बड़े प्रकरण में कार्यवाही करने की सुध तक नही है। बड़ा सवाल यह है कि क्या पूजा चन्दोला सीबीएसई तथा यूपी दोनों ही बोर्डों पर भारी पड़कर अपने बेटे को बचाने में कामयाब रही हैं? फिलहाल इस प्रधानाचार्य व इसके विद्यालय के भ्र्ष्टाचार की लंबी फेहरिस है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here