पुलिस ने किया अवैध असलहा बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश, कई थानों पर वांछित था गिरफ्तार अपराधी

0
1033

पर्दाफ़ाश न्यूज़
संतकबीरनगर

बीते बुद्धवार को संतकबीरनगर पुलिस ने अवैध असलहा बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है, जिस अपराधी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वह कई थानों पर वांछित अपराधी भी है। जानकारी के मुताबिक पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान और लोकसभा निर्वाचन 2019 को सकुशल एवं शान्तिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराये जाने की दिशा में अपर पुलिस अधीक्षक असित श्रीवास्तव के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी धनघटा आनन्द कुमार पाण्डेय के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक थाना धनघटा रणधीर कुमार मिश्रा के नेतृत्व में थाना धनघटा पुलिस ने भारी संख्या में अवैध तमंचा व तमंचा बनाने के उपकरण बरामद कर किया।

इस बारे में थानाध्यक्ष घनघटा रणधीर कुमार मिश्रा ने पूरी कहानी बताते हुए कहा मुखबिर की सूचना पर अमल करते हुए पुलिस टीम आगापुर उर्फ गुलरिहा गाँव के दक्षिण घाघरा नदी के किनारे दियारा में स्थित मड़ई में पहुंची तो देखा कि कुछ लोग अवैध शस्त्र का निर्माण व विक्रय रात्रि के समय चोरी छुपे कर रहे है। पुलिस वालों को देखकर मड़ई में बैठे व्यक्ति उठकर पश्चिम तथा दक्षिण की तरफ भागे। भाग रहे एक व्यक्ति को पुलिस टीम द्वारा पकड़ लिया गया तथा दूसरा व्यक्ति अंधेरे का लाभ उठाकर नदी की तरफ दक्षिण दिशा में भाग गया । पकड़े गये व्यक्ति से पूछताछ करने पर उसने अपना नाम हैदर अली पुत्र इकबाल अहमद (उम्र 32 वर्ष) निवासी मोहीद्दीनपुर इस्लाम नगर मगहर थाना खलीलाबाद जनपद संत कबीर नगर बताया। भागने कारण पूछने पर बताया कि साहब मै बेरोजगार हूँ आर्थिक तंगी के कारण गलत संगत में पड़ गया कुछ दिनों तक मैं बिहार के मुंगेर जिले में रहा जहाँ अवैध कट्टा बनाने का काम किया।घर आने के बाद कोई कार्य न होने के कारण इधर उधर मारा-मारा फिरता था इसी बीच मेरी मुलात झिनकान निवासी धनघटा से हुई जिससे मैंने वार्ता कर अवैध शस्त्र बनाने के लिये कोई सुरक्षित स्थान बताने को कहा झिनकान के बताने के अनुसार हम और झिनकान मिल कर चोरी छिपे अवैध शस्त्र का निर्माण आगापुर उर्फ गुलरिहा के पास स्थित घाघरा नदी के किनारे मड़ई में करने लगे तथा शस्त्रों की चोरी छिपे बिक्री भी सीमावर्ती जनपद बस्ती, अम्बेडकरनगर आदि स्थानों में करने लगे। एकान्त स्थान होने के कारण कोई इधर आता जाता नहीं है । हम लोग अक्सर रात्रि में ही शस्त्रों का निर्माण करते है और इन शस्त्रों को दो से तीन हजार रूपये में बेच देते है। आज भी हम लोग शस्त्रों का निर्माण कर रहे थे कि आप लोग अचानक आकर पकड़ लिये। साहब झिकान मौके का फायदा उठाकर नदी की तरफ भाग गया।

हैदर अली उपरोक्त की तलाशी व मड़ई की तलाशी के दौरान पुलिस को 01 अदद मोबाइल फोन लावा व 180 रू0 नकद,03 अदद कट्टा 315 बोर,02 अदद कट्टा 12 बोर,01 अदद रिवाल्वर अर्धनिर्मित,06 अदद नाल,01 अदद हेक्सा आरी मय ब्लेड,01 अदद हथौड़ी मय निहानी,01 अदद सड़सी,01 अदद कौआ पिलास,06 अदद स्प्रिंग बड़ा व 06 अदद स्प्रिंग छोटा,01 अदद छिन्नी,01 अदद निहाल,05 अदद रिपीट बड़ा व 22 अदद रिपीट छोटा,01 अदद टार्च, 01 अदद चाइनीज लैम्प,01 अदद भट्ठी मय भाथी मय रिंग लोहे का पुराना,04 किग्रा कोयला बरामद हुआ। अभियुक्त हैदर अली को गिरफ्तार कर धारा 3/5/25/26 आर्म्स एक्ट के तहत जेल भेज दिया गया। अभियुक्त को गिरफ्तारी करने वाली टीम में उ0नि0 हरेश तिवारी चौकी प्रभारी बसवारी गाँव,उ0नि0 धर्मेन्द्र कुमार तिवारी चौकी प्रभारी पौली, का0 मिथिलेश मिश्रा, का0 अनिल यादव, का0 विमलेश गुप्ता,हे0का0 रजनीश पाठक शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here